Published On: Fri, Nov 2nd, 2018

94th AGC of AIRF at Kota – NPS is nothing but curse- Com. Shiva Gopal Mishra

Share This
Tags

कोटा. इस समय देश में रेलवे संकट की स्थिति से गुजर रहा है। केन्द्र सरकार रेलवे को टुकड़े-टुकड़े में निजी हाथों में सौंपने की तैयारी कर रही है। रेलवे के निजीकरण को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भारतीय रेल को बचाने के लिए सशक्त कदम उठाए जाएंगे। यह बात ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महामंत्री शिवगोपाल मिश्र ने ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के 94वें अधिवेशन में में कही।

कोटा में गुरुवार से आयोजित ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के 94वें अधिवेशन की तैयारियों को लेकर मिश्र ने कहा कि 1 से 3 नवम्बर तक चलने वाले अधिवेशन में देशभर से 15 हजार से अधिक रेलवे कर्मचारी जुटें। अधिवेशन में केन्द्र सरकार द्वारा रेलवे को निजी हाथों में सौंपने के विरोध में चक्काजाम का प्रस्ताव लिया जाएगा। सेफ्टी से जुड़े 2.5 लाख से ज्यादा खाली पदों को भरने, इंसेंटिव बोनस, रनिंग अलाउंस सहित विभिन्न मुद्दों पर निर्णय लिया जाएगा। यदि सरकार रेलकर्मियों की मांगों पर ध्यान नहीं देती है तो भारतीय रेलवे को बचाने के लिए आम जनता को आंदोलन से जोड़ा जाएगा। रेलवे कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर दिसम्बर में तमाम केंद्र व राज्य कर्मचारियों को साथ लेकर संसद पर शीतकालीन सत्र के दौरान जोरदार प्रदर्शन किया जाएगा। रनिंग अलाउंस सहित विभिन्न समस्याओं को लेकर जो प्रस्ताव फेडरेशन द्वारा लिया गया है, उसे दिसम्बर तक लागू करने के लिए 45 दिन का समय दिया गया है। उन्होंने कहा कि जो पार्टी उनकी मांगों को लागू नहीं करेगी, चुनावों में उसका समर्थन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में रेलवे में 12.50 लाख कार्मिक है। इनमें से फेडरेशन के देशभर में दस लाख सदस्य हैं।
रेलवे को बिकने नहीं देंगे
फेडरेशन के अध्यक्ष रखालदास गुप्ता ने कहा कि रेलवे का निजीकरण किसी के हित में नहीं है। निजी हाथों में जाने से तीन से चार गुना किराया बढ़ जाएगा। कम्पनियां अपने हिसाब से किराया तय करेंगी। सुरक्षा की कोई जिम्मेदारी नहीं रहेगी। वर्तमान में कर्मचारियों से ओवरटाइम करवाया जा रहा है। उन्हें आराम नहीं मिलने से सुरक्षा खतरे में है। रेलवे के निजीकरण का हम विरोध करेंगे। चक्काजाम से देश की जनता को तकलीफ होगी। हम जनता से माफी मांगते हैं, लेकिन सरकार हमें मजबूर कर रही है। रेलवे को किसी भी सूरत में बिकने नहीं होने देंगे।
अमृतसर वर्कशाप की एनआरएमयु की ब्रांच भी अधिवेशन में कोटा पहुंची।कामरेड राजीव कुमार ब्रांच सेक्रेटरी अमृतसर वर्कशाप जो एआईआरएफ और एनआरएमयु की वेबसाइट को पिछले दस साल से चला रहें हैं उनकी महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा ने जमकर तारीफ़ की। उन्होंने कहा कि वेबसाइट से रेलवे और यूनियन की गतिविधियों के विषय में तमाम जानकारी उपलब्ध होने के कारण तक़रीबन एक करोड़ लोगों ने इससे जुड़ने का काम किया है। मीटिंग में कृष्ण पहलवान, मदन लाल, कुलबीर सिंह, जसविंदर सिंह, किशोर कुमार, किशन कुमार,भारत भूषण, तेजिंदर सिंह, बलजीत सिंह, भगवंत मान आदि ने शिरकत की ।

 

About the Author

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>